झूठे वादे और चमक-धमक वाले उपहारों के द्वारा अनुचित कर्म करवाने का आह्वान करने वाले, दोस्त नहीं धोखेबाज हैं। नकली संबंधों में अपनी गरिमा और जीवन का बलिदान न करें।

0 162

धोकेबाजी से सावधान रहें।

झूठे वादे और चमक-धमक वाले उपहारों के द्वारा अनुचित कर्म करवाने का आह्वान करने वाले, दोस्त नहीं धोखेबाज हैं।

नकली संबंधों में अपनी गरिमा और जीवन का बलिदान न करें।

Ref: Wisdom Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com


Related Quotes