Browsing tag

अमन का मार्ग

प्रेम की पवित्रता: विवाह से ही पवित्र प्रेम होता है। विवाह से पहले या बाद अवैध संबंध अनैतिक और विनाशकारी हैं।

प्रेम की पवित्रता:  विवाह से ही पवित्र प्रेम होता है। विवाह से पहले या बाद अवैध संबंध अनैतिक और विनाशकारी हैं। Ref: Wisdom Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com

अमन का मार्ग: जो लोग ईमान लाये और अपने ईमान को अत्याचार (शिर्क) से लिप्त नहीं किया, उन्हीं के लिए शान्ति है तथा वही मार्गदर्शन पर हैं। [कुरआन 6:82]

अमन का मार्ग:  जो लोग ईमान लाये और अपने ईमान को अत्याचार (शिर्क) से लिप्त नहीं किया, उन्हीं के लिए शान्ति है तथा वही मार्गदर्शन पर हैं। (कुरआन 6:82) Ref: Wisdom Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com