Browsing tag

अनाथों का सम्मान

हर पल कीमती है। जीवन के वृक्ष से समय के पत्ते झड़ते है। “अतः जब निवृत हो तो परिश्रम में लग जाओ।” (कुरआन ९४:७)

हर पल कीमती है। जीवन के वृक्ष से समय के पत्ते झड़ते है। “अतः जब निवृत हो तो परिश्रम में लग जाओ।”  (कुरआन ९४:७) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com

अनाथों के प्रति करुणा पर्याप्त नहीं है, सम्मान भी जरूरी है। “ऐसा नहीं, बल्कि तुम अनाथ का आदर नहीं करते।” (कुरआन ८९:१७)

क्या आप अनाथों का सम्मान करते हो? अनाथों के प्रति करुणा पर्याप्त नहीं है, सम्मान भी जरूरी है। “ऐसा नहीं, बल्कि तुम अनाथ का आदर नहीं करते।” (कुरआन ८९:१७) Ref: Wisdom  Media School | #IslamicQuotes by Ummat-e-Nabi.com