पोस्ट 4: इस्लाम और हमारा घर

*पोस्ट 4⃣*

*इस्लाम*
*और हमारा घर*

*सोने और जागने का वक़्त*

*अबूबर्ज़ा रज़िअल्लाहु अ़न्हु फ़रमाते हैं:*
*अल्लाह के रसूल ﷺ इशा से पहले सोने और उसके बाद बात चीत करने को नापसंद करते थे ।*
*(बुखारी 535, मुस्लिम 1025)*
*अल्फ़ाज़ बुखारी के हैं ।*
*——-J,Salafy✒——-*
*▪शेयर करें▪*

*जिस शख़्स ने किसी नेकी का पता बताया, उसके लिए (भी) नेकी करने वाले के जैसा अजर हैं।*
*(स़ही़ह़ मुस्लिम: ज़ी. 3, हदीस 4665)*

इस्लाम और हमारा घर
Comments (0)
Add Comment


Related Quotes