अल्लाह तुम्हारी सूरतों और तुम्हारे मालों को नहीं देखता बल्कि वह तुम्हारे आमाल और दिलों को देखता है। [हदीस: इब्ने माजाह 4143]

नबी करीम (ﷺ) ने फरमाया: “बेशक अल्लाह तुम्हारी सूरतों और तुम्हारे मालों को नहीं देखता बल्कि वह तुम्हारे आमाल और दिलों को देखता है।”

[Hadees: Ibne Majah: 4143-Sahih]

DilHadeesIkhlasMaalNiyat
Comments (0)
Add Comment


Related Quotes